मुकदमों की जांच में पारदर्शिता बरतें अधिकारी: एडीजी

[smartslider3 slider="2"]

हल्द्वानी। मुकदमों की विवेचना में पुलिस अधिकारी पारदर्शिता बरतें। जांच में लापरवाही किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। यह बात अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था (एडीजी) वी मुरुगेशन ने नैनीताल और उधमसिंह नगर की अपराध समीक्षा बैठक में कही। कोतवाली स्थित सभागार कक्ष में हुई समीक्षा बैठक के शुभारंभ में डीआईजी डॉ. नीलेश आनंद भरणे ने डॉक्यूमेंट्री के माध्यम से बीते कुछ समय में हुए अपराध, अनावरण और अपराधियों की धरपकड़ की जानकारी साझा की। इस दौरान एडीजी ने कहा कि दोनों जिलों में नशा तस्करी के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। तस्करों पर लगाम लगाने के लिए दोनों जिलों की पुलिस को समन्वय बैठाकर कार्रवाई करने की आवश्यकता है। कहा कि अपराधियों के खिलाफ ठोस साक्ष्य एकत्रित किए जाएं, जिससे उन्हें कठोर सजा दिलाई जा सके। उन्होंने जिलों में मादक पदार्थों की तस्करी को पूर्ण रूप से खत्म करने, संदिग्धों पर नजर बनाए रखने, अपराधियों की हिस्ट्रीशीट खोलने और लंबित मामलों को जल्द निस्तारित करने के निर्देश दिए। एसएसपी पंकज भट्ट ने एडीजी को स्मृति चिह्न भेंट किया। मौके पर एसएसपी उधमसिंह नगर टीसी मंजूनाथ, एसपी क्राइम हल्द्वानी डॉ. जगदीश चंद्र, एसपी सिटी हल्द्वानी हरबंस सिंह, एसपी रुद्रपुर मनोज कत्याल, काशीपुर अभय प्रताप सिंह, सीओ भूपेंद्र धोनी, नितिन लोहनी, अभिनय चौधरी, वीर सिंह, ओमप्रकाश शर्मा, भूपेंद्र भंडारी, तपेश चंद आदि शामिल रहे।


शेयर करें