पटाखों की चिंगारी से झुलसे तीन दर्जन से अधिक लोग

ऋषिकेश। दिवाली की रात पटाखे चलाते समय तीर्थनगरी ऋषिकेश के कई इलाकों में तीन दर्जन से अधिक लोग झुलस गए। परिजन आनन-फानन में सरकारी अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां मरहम पट्टी के बाद सभी की छुट्टी कर दी गई। किसी को भर्ती करने की नौबत नहीं आयी। आतिशबाजी के पर्व दिवाली में एटमबम, फुलझड़ी, अनार बम, रॉकेट आदि पटाखों की चिंगारी कई लोगों के लिए आफत बनी। जल्दबाजी और असुरक्षित तरीके से की गई आतिशबाजी से निकली चिंगारी की चपेट में आकर किसी का हाथ तो कोई झुलस गया। सरकारी अस्पताल ऋषिकेश की इमरजेंसी रिकार्ड के मुताबिक दिवाली की रात चंद्रेश्वरनगर, मायाकुंड, चंद्रभागा, शीशमझाड़ी, झंडा चौक, बनखंडी, शांतिनगर, श्यामपुर आदि इलाकों से 35 से अधिक लोग झुलसी अवस्था में आए। ईएमओ डा. अंकित आनंद ने बताया कि सभी के आंशिक रूप से झुलसे होने के कारण प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया। भर्ती करने की नौबत नहीं आयी। उन्होंने बताया कि आतिशबाजी से झुलने वालों में 10 साल की उम्र से लेकर 60 साल तक के लोग शामिल रहे।


शेयर करें