नैनीताल में मूसलाधार बारिश, तीन ग्रामीण सड़कें बंद

नैनीताल। नैनीताल में लगातार हो रही बारिश ने लोगों की मुसीबतें बढ़ा दी हैं। शुक्रवार को बारिश के साथ हुई ओलावृष्टि से सड़कों पर कई जगह मलबा आ गया। मलबा आने से तीन ग्रामीण सड़कें बंद हो गईं। वहीं अल्मोड़ा एनएच पर दिनभर पत्थर गिरने से वाहन चालकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। नैनीताल में करीब एक सप्ताह से लगातार बारिश हो रही है। शुक्रवार को भी सुबह से ही कोहरा और कुछ देर गुनगुनी धूप रही, लेकिन दोपहर बाद एकाएक मौसम ने करवट बदल ली। मूसलाधार बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। दोपहर करीब ढाई बजे शुरू हुई बारिश देर शाम तक जारी रही, जिससे सर्दी में इजाफा हो गया। इस दौरान नैनीताल घूमने आए पर्यटकों के साथ ही स्थानीय लोगों ने भी आवाजाही में फजीहत का सामना किया। आपदा कंट्रोल रूप से मिली जानकारी के अनुसार बारिश के बाद जिले की तीन ग्रामीण सड़कें बंद हैं। जिसमें रातीघाट-बुधलाकोट, हरतपा-हली तथा परेड़ा-देवनगर शामिल हैं। ग्रामीण क्षेत्रों को जोड़ने वाले एकमात्र मोटर मार्ग बंद होने से ग्रामीणों को खासी परेशानी हुई। वहीं बारिश के बीच भवाली मार्ग पर जोखिया एवं कैलाखान के पास सड़क पर मलबा गिरता रहा। कालाढूंगी मार्ग पर खुर्पाताल क्षेत्र में मलबा आने से यातायात प्रभावित रहा। भवाली-अल्मोड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग पर खैरना-गरपानी के समीप कई क्षेत्रों में दिनभर पहाड़ी से पत्थर गिरते रहे। यह क्षेत्र आपदा की दृष्टि से अति संवेदनशील क्षेत्रों में शामिल है। ऐसे में यहां से आवाजाही कर रहे यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। भारी वर्षा के दौरान नैनीताल की नैनी झील में गिरने वाले नाले भी उफान पर रहे। जिला मौसम विज्ञान केंद्र के प्रभारी संजय पंवार के अनुसार शुक्रवार को नगर में अधिकतम तापमान 13 जबकि न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, लेकिन शाम के समय पारे में तीन से चार डिग्री सेल्सियस तक गिरावट देखी गई।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!