डाकघर खाली करने के नोटिस पर जताया रोष

कोटद्वार। नगर निगम के अंतर्गत पदमपुर सुखरौ के पूर्व ग्राम प्रधान सी पी नैथानी सहित स्थानीय निवासियों ने पदमपुर सुखरौ स्थित पंचायत घर में संचालित हो रहे डाकघर को नगर निगम की ओर से खाली करने का नोटिस देने पर रोष व्यक्त किया है। इस संबध में स्थानीय जनता ने सीपी नैथानी के नेतृत्व में मेयर हेमलता नेगी को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में कहा गया है कि पूर्व में उक्त डाकघर किराये के भवन पर अल्प सुविधाओं के साथ संचालित हो रहा था। वर्ष 2014 में ग्राम प्रधान निर्वाचित होने पर सी पी नैथानी ने उक्त डाकघर को समुचित सुविधाओं के साथ पंचायत भवन में स्थापित किया। वहां से निगम को तीन हजार रुपये मासिक किराया मिल रहा है। कहा कि ज्ञात हुआ है कि निगम की बोर्ड बैठक में उक्त पंचायत घर में संचालित डाकघर को खाली कराने का प्रस्ताव पास हुआ है। तत्पश्चात ही डाकघर को खाली करने का नोटिस दिया गया है, जो अव्यवहारिक है। केवल इसी पंचायत घर के लिए प्रस्ताव पास करना अनुचित है।
उन्होंने कहा कि नगर निगम बनने के बाद से पूरे नगर निगम क्षेत्र के पंचायत भवन सूने पड़े हुए हैं। यहां पर चल रहे डाकघर से लालपुर, ध्रुवपुर, पदमपुर व सिमलचौड़ की जनता को लाभ पहुंच रहा था, लेकिन अब उक्त डाकघर को भी शिफ्ट करने का नोटिस जारी कर दिया गया है, जो किसी भी तरह से जनहित में नहीं है। ज्ञापन में चेतावनी दी गई है कि अगर डाकघर कार्यालय को बिना किसी समुचित कारण के खाली कराया गया तो जन सहयोग से नगर निगम का घेराव किया जायेगा।
ज्ञापन सौंपने वालों में जीत सिंह रावत, चंद्रमोहन काला, दामोदर प्रसाद, सतपाल सिंह, एस एस रावत, गोकुल सिंह, भगत सिंह, विनय भारद्वाज, संदीप जखवाल, नितिन नेगी, अजय कोटनाला और गंभीर सिंह आदि लोग शामिल रहे।


शेयर करें