एसडीएम और कोतवाल के खिलाफ आंदोलन का ऐलान

बागेश्वर। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष व वर्तमान सदस्य हरीश ऐठानी समेत विपक्षी सदस्यों ने जिला पंचायत पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सत्ता की हनक में जिला पंचायत को भ्रष्टाचार का अड्डा बना चुकी है। उन्होंने कहा कि वे किसी भी कीमत में भ्रष्टाचार को पनपने नहीं देगी। उन्होंने एसडीएम समेत कोतवाल के खिलाफ एक नवंबर से आंदोलन की चेतावनी दी। पर्यटक आवास गृह में शुक्रवार को विपक्षी सदस्यों ने पत्रकार वार्ता की। इस दौरान पूर्व जिपं अध्यक्ष और वर्तमान में सदस्य हरीश ऐठानी ने कहा कि सत्ता की शह पर जिपं अध्यक्ष भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे हैं। आगामी नगर पंचायत के चुनावों को देखते हुए गरुड़ के भकुनखोला जिपं क्षेत्र में विकास के नाम पर धन का दुरुपयोग किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा के सदस्य को फायदा पहुंचाने के लिए महंगी सोलर लाइटें खरीदी जा रही हैं। पूर्व में हुई जांच में दोषी पाए जाने व प्रभारी मंत्री द्वारा जांच कराने के आदेश के बाद भी प्रशासन जिपं की जांच करके कार्रवाई नहीं कर पा रहा है। उन्होंने जिपं पर सोबन सिंह जीना परिसर में मनमानी का आरोप लगाया तथा कहा कि अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए एक के बाद एक गलत कार्य किए जा रहे हैं। उन्होंने गत दिवस हुई बैठक में एसडीएम बागेश्वर के आदेश पर कोतवाल के सिपाहियों के द्वारा की गई अभद्रता पर कड़ी निंदा की कहा कि एक नवंबर से सदस्यों के साथ आंदोलन किया जाएगा। आरोप लगाया कि जिपं अध्यक्ष बसंती देव अपनी हत्या की साजिश की बात कहकर काले कारनामे छिपा रही हैं। शायद उन्हें याद नहीं है कि हत्या का शिकार हुए स्व. रमेश जौहरी भाजपा के नेता थे तथा उनकी हत्या भी भाजपा नेता के पुत्र ने ही की थी। उन्होंने कहा कि विपक्षी सदस्य किसी भी कीमत में जिपं के भ्रष्टाचार को पनपने नहीं देंगे। इस दौरान जिपं उपाध्यक्ष नवीन परिहार समेत सदस्य वंदना ऐठानी, इंद्रा परिहार, रूपा कोरंगा, गोपा धपोला, सुरेश खेतवाल, रेखा देवी उपस्थित रहे।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!