एसएसपी अल्मोड़ा ने मासिक अपराध गोष्ठी में की अपराधों की समीक्षा, लंबित विवेचनाओं को शीघ्र निस्तारित करने के दिए निर्देश

अल्मोड़ा। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अल्मोड़ा प्रदीप कुमार राय द्वारा पुलिस लाईन अल्मोड़ा के सभागार में जनपद के समस्त राजपत्रित अधिकारीगणों, समस्त थानाध्यक्षों, शाखा प्रभारियों व अन्य अधिकारी/कर्मचारी गणों के साथ सम्मेलन व मासिक अपराध गोष्ठी का आयोजन किया गया।
गोष्ठी में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा सभी थानों/शाखाओं से आये सभी कर्मचारियों का सम्मेलन लेकर उनकी समस्यायें पूछी गई, कर्मचारियों द्वारा बताई गई समस्या का त्वरित निवारण हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया गया। काँन्सटेबलरी के उत्साहवर्धन के लिए उनके व उनके परिवारों के कल्याण हेतु सभी प्रभारियों को हरसंभव प्रयास करने के लिए प्रेरित किया गया।
इसके उपरान्त मासिक अपराध गोष्ठी में थानों में पंजीकृत अपराध आकड़ों की समीक्षा कर अधिक से अधिक निरोधात्मक कार्यवाही के निर्देश दिये गये, थानों में लम्बित विवेचनाओं की समीक्षा कर सम्बन्धित थाना प्रभारी/विवेचकों को शीघ्र निस्तारण करने व लम्बित शिकायती प्रार्थना पत्रों एवं सम्मन/वारंट/नोटिस का ससमय निस्तारण किये जाने/अभियोगों में वांछित अभियुक्तों की शीघ्र गिरफ्तारी किये जाने हेतु कड़े निर्देश दिये गये।
थाना प्रभारियों को थानों में लम्बित मामलों, मुकदमाती वाहनों के निस्तारण हेतु कार्यवाही कर शीघ्र निस्तारण कराने के निर्देश दिये गये।
अपराध गोष्ठी में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा सभी थाना प्रभारियों को पुलिस मुख्यालय व रेंज से चलाए जा रहे अभियानों में व्यक्तिगत रुचि लेकर प्रभावी कार्यवाही करने और अपराध नियन्त्रण हेतु बीट पुलिसिंग को मजबूत करने, बीट कान्सटेबल को अपने बीट क्षेत्र में भ्रमण कर सक्रिय रहते हुए बीट क्षेत्र में निवासरत बाहरी व्यक्तियों का शत प्रतिशत सत्यापन कराने हेतु निर्देशित किया गया। अपराध नियन्त्रण/सुरक्षा के दृष्टिगत लोगों को अपने घरों व प्रतिष्ठानों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए प्रेरित करने को कहा गया, जिससे अपराध नियन्त्रण में सहायता मिल सके। शीतकाल में बारिश/बर्फबारी के दृष्टिगत आपदा उपकरणों को कार्यशील दशा में रखने हेतु निर्देशित किया गया।
यातायात जागरुकता- मासिक अपराध गोष्ठी में उपस्थित समस्त सीओ व थाना प्रभारियों, टीआई, टीएसआई व इण्टरसेप्टर प्रभारी को सड़क दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने हेतु प्रभावी यातायात प्लान तैयार कर निरन्तर कार्यवाही के निर्देश दिये गये, सभी को नाबालिगों द्वारा वाहन चलाते पाये जाने पर उनके अभिभावकों के विरुद्ध चालानी कार्यवाही कर बच्चों व संरक्षकों की काउंसलिंग करने, बिना हेलमेट, शराब पीकर वाहन चलाने, बिना सीट बैल्ट, वाहन चलाते समय मोबाईल फोन का प्रयोग, ओवर स्पीड, ओवर लोडिंग व रैश ड्राईविंग करने वाले वाहन चालकों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही कर वाहन चालकों को यातायात नियमों का पालन करने हेतु जागरुक करने के निर्देश दिये गये।
महिला सुरक्षा के प्रति सजग एवं गंभीर रहते हुए किसी भी प्रकार की मौखिक/लिखित शिकायत, डायल 112, उत्तराखण्ड पुलिस एप व गौरा शक्ति के माध्यम से प्राप्त शिकायतों पर तत्काल कार्यवाही कर पीड़ितों को हरसंभव सहायता प्रदान करें जिससे आमजनमानस में पुलिस के प्रति विश्वास जागृत हो।
महिला सुरक्षा/महिला अपराध/बाल अपराध/मानव तस्करी आदि अपराधों की रोकथाम हेतु अपने-अपने थाना क्षेत्रान्तर्गत नगरों, कस्बों, गावों व स्कूल कालेजों में अधिक से अधिक जागरुकता कार्यक्रम चलाकर घरेलू/कामकाजी महिलाओं/युवतियों व स्कूली छात्राओं को उनके अधिकारों व कानून की जानकारी प्रदान करते हुए उत्तराखण्ड पुलिस एप के गौरा शक्ति के बारे में विस्तृत रुप से बताकर/समझाकर सभी का गौरा शक्ति में रजिस्ट्रेशन कराये।

साईबर अपराध की रोकथाम हेतु अधिक से अधिक जागरुकता कार्यक्रम आयोजित कर लोगों को साईबर ठगों द्वारा अपनाये जा रहे नये-नये तरीकों से अवगत कराकर बचाव के तरीके समझाकर जागरुक किया जाय साथ ही साईबर अपराध के मामलों में थाना प्रभारियों को शिकायतकर्ता की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए साईबर ठगों द्वारा हड़पी गयी धनराशी की रिकवरी हेतु तत्काल सम्बन्धित को पत्राचार कर जनपदीय साईबर से सहायता प्राप्त कर आवश्यक करते हुए पीड़ित व्यक्ति की धनराशि वापस कराने के लिए हरसंभव प्रयास करें।
ड्रग्स- ड्रग्स फ्री देवभूमि मिशन 2025 को साकार करने हेतु नशा उन्मूलन के प्रति दृढ सकल्पित रहकर अवैध नशे की बिक्री व तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए नशा तस्करों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने, नशा तस्करी के मामलों में गिरफ्तार अभियुक्तों द्वारा अवैध रुप से अर्जित की गयी धनराशि/सम्पत्ति की तस्दीक कर जब्तीकरण की कार्यवाही करें। गैगस्टर एक्ट में जारी एसओपी के अनुसार कार्यवाही कर पालन करें।
एसएसपी अल्मोड़ा द्वारा अपने अधीनस्थों को तम्बाकू/धूम्रपान से दूर रहने की प्रेरणा दी गयी और इसके दुष्प्रभावों के घातक परिणामों से अवगत कराया गया साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करने वाले लोगों के विरुद्ध कोटपा एक्ट के तहत कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये।
अपराध गोष्ठी में पुलिस उपाधीक्षक अल्मोड़ा विमल प्रसाद, पुलिस उपाधीक्षक रानीखेत टी0आर0 वर्मा,पुलिस उपाधीक्षक संचार राजीव कुमार टम्टा, प्रभारी ज्येष्ठ अभियोजन अधिकारी बिन्देश्वरी प्रसाद टम्टा, निरीक्षक अभिसूचना इकाई कमल कुमार पाठक, प्रतिसार निरीक्षक जितेन्द्र पाठक, वाचक निरीक्षक अशोक धनकड़, प्रभारी डीसीआरबी निरीक्षक अरुण कुमार, निरीक्षक यातायात गणेश सिंह हरड़िया, निरीक्षक दूरसंचार उमाशंकर पाण्डे, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली अल्मोड़ा राजेश कुमार यादव, प्रभारी निरीक्षक नासिर हुसैन प्रभारी निरीक्षक कोतवाली रानीखेत,थानाध्यक्ष भतरौजखान निरीक्षक संजय पाठक, एफएसओ रानीखेत एम0पी0 सिंह सहित जनपद के सभी थाना एवं शाखा प्रभारी / अन्य कर्मचारी गण मौजूद रहे।


शेयर करें