श्रद्धालुओं ने लिया सुख-समृद्धि का आशीर्वाद

नई टिहरी। शंकराचार्य ब्रह्मलीन स्वामी माधवाश्रम महाराज की पंचम निर्वाण दिवस पर सनातन धर्म शक्तिपीठ दुर्गा मंदिर नई टिहरी में दंडी वाड़ा आश्रम मायाकुंड ऋषिकेश के सहयोग से श्रीमद्भगवत कथा का आयोजन किया। कथा श्रवण करने पहुंचे लोगों ने व्यास पीठ से सुख समृद्धि का आशीर्वाद लिया। कथा व्यास महंत अभय चैतन्यानंद महाराज ने कहा कि सनातन धर्म शास्त्र में श्रीमद्भवगत कथा मुक्ति का सर्वश्रेष्ठ साधन है। जीवात्मा की उन्नति का मार्ग भागवत के श्रवण से ही संभव होता है। व्यास ने कहा कि व्यक्ति को भौतिकता की दौड़ में इतना अंधा नहीं होना चाहिए कि वह देवताओं और ऋषियों की परंपराओं त्याग दें। कहा श्रीमद्भगवत कथा श्रवण से व्यक्ति को अपने स्वार्थ को त्यागने की शिक्षा मिलती है। मौके पर बाल व्यास बालकृष्ण चमोली, दंडी वाड़ा आश्रम के प्रबंधक केशव स्वरूप ब्रह्मचारी, राजेंद्र प्रसाद चमोली, सीताराम भट्ट, डा. जेपी बहुगुणा, धनेश सोनी, विक्रम कठैत, त्रिलोक चंद्र रमोला, वाचस्पति चमोली, भगवान चंद रमोला आदि उपस्थित थे।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!