पतंजलि ने किया युवक-युवतियों से संन्यास का आह्वान

हरिद्वार। पतंजलि योगपीठ की शाखा पंतजलि योग आश्रम ने भारत को विश्व का सबसे शक्तिशाली राष्ट्र बनाने के लिए 12 वीं कक्षा उत्तीर्ण, ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट युवक-युवतियों से संन्यास का आह्वान किया है। साथ ही हिंदू सनातन धर्म को राष्ट्रधर्म और विश्वधर्म के रूप में प्रतिष्ठापित करने का संकल्प रखने वाले युवक और युवतियों को संन्यासी बनने के लिए आमंत्रित किया है। शुक्रवार को रामदेव ने बताया कि हिंदू नववर्ष के चैत्र प्रतिपदा 22 से 30 मार्च रामनवमी तक नौ दिवसीय संन्यास महोत्सव का आयोजन होगा। महोत्सव में संन्यासी बनने के लिए युवक और युवतियों को आमंत्रित किया गया है। रामनवमी पर वैराग्यवान विद्वान और विदुषी 100 भाई-बहन इस ऐतिहासिक दिव्य भव्य संन्यास दीक्षा में दीक्षित हो रहे हैं। रामदेव ने बताया की पतंजलि विश्व विद्यालय से योग में बीए, एमए, बीएएमएस और बीएनवाईएस आदि के साथ दर्शनशास्त्र, वेदशास्त्र, व्याकरण व संस्कृत साहित्य में भी बीए, एमए की उपाधि दी जाती है। प्रतिभावान युवक और युवतियों की शिक्षा-दीक्षा की पूर्ण व्यवस्था पतंजलि योगपीठ द्वारा होगी। संन्यासी बनकर योगधर्म, वेदधर्म और सनातन धर्म को विश्व धर्म बनाने के लिए जीवन आहुत करने वाले भाई बहनों के पूरे जीवन का योगक्षेम पतंजलि संस्था करेगी।


शेयर करें