पशु चिकित्सालय में ताला लटका होने से आक्रोशित ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

विकासनगर। जौनसार बावर के डेढ़ सौ गांवों के केंद्र बिंदु लाखामंडल के पशु चिकित्सालय में चिकित्सक समेत अन्य कर्मियों की तैनाती नहीं होने से ग्रामीणों के बीमार पशुओं को उपचार नहीं मिल रहा है। इससे ग्रामीणों को पशु हानि हो रही है। शुक्रवार को ग्रामीणों ने प्रदर्शन कर पशु चिकित्सालय में पर्याप्त चिकित्सक कर्मियों की तैनात करने की मांग की है। प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों ने कहा कि इन दिनों पूरे क्षेत्र में पशुओं में लंपी रोग का प्रकोप बढ़ रहा है। इस रोग से कई पशुओं की मौत हो चुकी है। पशुओं के उपचार के लिए लाखामंडल में खोला गया पशु चिकित्सालय चिकित्सक के अभाव में सफेद हाथी साबित हो रहा है। दो वर्ष से यहां कोई भी चिकित्सा कर्मी तैनात नहीं है, जिससे चिकित्सालय पर ताला लटका हुआ है। पशुओं के बीमार होने पर उपचार के लिए चकराता और कालसी जाना पड़ता है। कहा कि बीमार पशु को उपचार के लिए करीब पचास किमी दूर ले जाना संभव नहीं है। ग्रामीणों ने लाखामंडल के पशु चिकित्सालय में चिकित्सक समेत अन्य कर्मियों की जल्द तैनाती नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। प्रदर्शन करने वालों में बचना शर्मा, कृपाल सिंह राणा, ओम प्रकाश, बचना शर्मा, प्रताप सिंह, अर्जुन, रीता देवी, संजू, बबीता, दीवान सिंह, बाबूराम शर्मा, विनोद गौड़ आदि शामिल रहे।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!