नशे के खिलाफ आमरण अनशन पर बैठे युवा

हरिद्वार। हरिद्वार में नशे के बढ़ते कारोबार से त्रस्त युवा पुलिस व प्रशासन के खिलाफ आमरण अनशन पर बैठ गए हैं। युवाओं की मांग है कि क्षेत्र में नशे पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया जाए। पुलिस और प्रशासन अपनी कार्यशैली में बदलाव करते हुए नशे पर बड़ी कार्रवाई करे। बुधवार को सिंहद्वार चौक पर नशे के खिलाफ आमरण अनशन पर बैठे युवा जागृति विचार मंच के सदस्य मनीष चौहान ने बताया कि पूर्व में भी कई बार पुलिस और प्रशासन से बढ़ते नशे के कारोबार के खिलाफ कार्रवाई की मांग की जा चुकी है। लेकिन किसी भी स्तर पर कोई भी सुनवाई न होने के कारण युवाओं को नशे के खिलाफ आमरण अनशन पर बैठना पड़ा है। युवा नशे की गिरफ्त में आकर अपना भविष्य बर्बाद करते हैं। सबसे ज्यादा खामियाजा नशा करने वाले युवाओं के परिवार को भुगतना पड़ता है। जब तक पुलिस और प्रशासन नशे के खिलाफ कठोर कार्रवाई नहीं करता है तब तक युवाओं का आमरण अनशन जारी रहेगा। युवाओं का कहना है कि स्मैक सबसे अधिक बिक रही है। मनीष अमारण अनशन और प्रवीण शर्मा क्रमिक अनशन पर बैठे हैं।


शेयर करें