कंडीसौड़ में होली मिलन के साथ मनाया महिला दिवस

नई टिहरी। महिला दिवस पर होली का अवकाश होने के चलते कंडीसौड़ में स्थानीय महिलाओं ने होली मिलन कार्यक्रम के साथ ही महिला दिवस को मनाया। इस मौके पर महिला वक्ताओं ने कहा कि इतिहास गवाह है कि महिलाओं ने समय आने पर बलिदान व त्याग के मामले में कभी कदम पीछे नहीं खींचे।
महिला दिवस मनाते हुए महिलाओं ने बाजार में रैली निकाली। इसके बाद होली मिलन कार्यक्रम का आयोजन कर समाज में महिलाओं के योगदानों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इतिहास महिलाओं के आंदोलन में भूमिका का गवाह है। 8 मार्च 1937 को स्पेन की महिलाओं ने तानाशाह फ्रैंको के खिलाफ आवाज उठाई और लोकतंत्र की मांग की। 8 मार्च 1974 को ईरान के धार्मिक नेताओं की आज्ञा का उलंघन कर 5 हजार से ज्यादा महिलाओं ने बिना सर ढके जूलूस निकाल कर अपनी आवाज उठाई। 8 मार्च 1908में सरकार ने महिलाओं के लिए पुरूषों के बराबर मजदूरी और कार्य करने के लिए समय बराबर किया। 8 मार्च 1893 को लम्बे संघर्ष के बाद न्यूजीलैंड की महिलाओं को वोट देने का अधिकार मिला। 8 मार्च 1974 को वियतनाम की महिलाएं युद्ध और हिंसा के विरुद्ध सड़कों पर प्रदर्शन के लिए उतरी।
इस मौके पर सुमेरी बिष्ट, महिला पुलिस हेड कांस्टेबल अमृता, सुचिता, रेखा, ममता, मंजू रमोला, अपर्णा, पवना, शीला देवी, नगीना देवी, चन्द्र कला, जस्सी देवी ,हंसा देवी, संग्राही आदि मौजूद रहे।


शेयर करें