पात्रों को मिले योजनाओं का लाभ : कुमाऊँ मंडल आयुक्त

WhatsApp Image 2022-03-27 at 12.38.44 PM
WhatsApp Image 2022-03-27 at 12.38.44 PM

अल्मोड़ा। आयुक्त कुमाऊॅ मण्डल अरविन्द सिंह हयांकि ने स्वरोजगार से जुड़ने के इच्छुक प्रवासियों को विभिन्न योजनाओं से लाभांवित करते हुए हर सम्भव मदद उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। मंगलवार को आयुक्त ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना एवं राहत वितरण कार्यों की वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा करते हुये यह निर्देश दिये। उन्होने कहा कि प्रवासियों को स्वरोजगार एवं रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जायें और बाहरी राज्यों से आये प्रवासियों की स्किल मैपिंग एवं ट्रेंकिंग शतःप्रतिशत की जाय। प्रवासियों को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए उनकी काउंसिंग की जाय। आयुक्त ने कहा कि स्वरोजगार के इच्छुक प्रवासियों को उनकी इच्छा, पूर्व कौशल अनुभव एवं वर्तमान सोच के अनुरूप आजीविका हेतु संसाधन उपलब्ध कराने में हर संभव मदद की जाय। उन्होंने उत्पादों के बाजार में मांग एवं आपूर्ति को देखते हुए कलस्टर पहुॅच पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए।
उन्होंने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, पीएमईजीपी, वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली योजना, होम स्टे योजना, सहित कृषि, उद्यान, पशुपालन, रेशम, मत्स्य आदि विभागों द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का लाभ भी इच्छुक पात्र व्यक्तियों तक पहुॅचाने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि यदि पात्र आवेदकों के सापेक्ष लक्ष्य कम हो बजट की कमी होने पर तत्काल शासन से पत्राचार किया जाये और उसकी एक प्रति मण्डलायुक्त कार्यालय को भी उपलब्ध करायी जाये, ताकि मण्डलायुक्त स्तर से भी प्रभावी कार्यवाही की जा सके।
आयुक्त ने राहत कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि कम वेतन वाले कर्मचारियों एवं लाभार्थियों को समय से राहत राशि उपलब्ध करायी जाये। राहत राशि उपलब्ध कराने में किसी भी स्तर पर विलम्ब नहीं होना चाहिए। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा की गयी घोषणा के अन्तर्गत जिन लोगों को आर्थिक सहायता दी जानी है उस कार्य में शीघ्रता से डीबीटी के माध्यम से 10 दिन के भीतर राहत राशि उपलब्ध कराने के निर्देश सभी जिलाधिकारियों को दिए।  
वीसी में मुख्य विकास अधिकारी मनुज गोयल ने जनपद में प्रवासियों को स्वरोजगार से जोड़ने हेतु किए जा रहे कार्यों के साथ ही राहत राशि वितरण के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होने कहा कि प्रवासियों की डाटा फिडिंग के साथ-साथ उनकी स्किल मैंपिग का कार्य गतिमान है। प्रत्येक विकासखण्ड में हेल्प डेस्क भी इस हेतु बना दिया गया है और इस कार्य को प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा। इस अवसर पर महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र डा0 दीपक मुरारी, सम्भागीय परिवहन अधिकारी शैलेश तिवारी, पर्यटन विकास अधिकारी राहुल चैबे, मुख्य कृषि अधिकारी प्रियंका सिंह, मुख्य उद्यान अधिकारी टी0 एन0 पाण्डे, परियोजना प्रबंधक आजीविका कैलाश भट्ट, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 रविन्द्र चन्द्रा आदि उपस्थित थे।

शेयर करें

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Share this page as it is