दूसरी प्रतीक्षा सूची जारी नहीं होने पर जताई नाराजगी

ऋषिकेश। प्रशिक्षित बेरोजगार संघ ने वर्ष 2018 से लंबित अतिथि शिक्षकों के सहायक अध्यापक और प्रवक्ता के रिक्त 2300 पदों पर दूसरी प्रतीक्षा सूची जारी नहीं होने पर नाराजगी जताई है। चेताया कि चार साल से अधर में लटकी प्रतीक्षा सूची का शासनादेश शीघ्र जारी नहीं किया तो आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। सोमवार को प्रशिक्षित बेरोजगार संघ ने अतिथि शिक्षकों के रिक्त पदों पर भर्ती को लेकर ज्ञापन मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को प्रेषित किया है। संघ के प्रदेश प्रवक्ता डीपी नौटियाल ने बताया कि बेरोजगार संघ नवंबर 2018 की विज्ञप्ति के अनुसार प्रदेश सरकार से अतिथि शिक्षकों के सहायक अध्यापक और प्रवक्ता के रिक्त पदों पर समस्त विषयों का शासनादेश जारी करने की मांग उठाते आ रहे हैं। पांच दिसंबर 2022 को गणित, अंग्रेजी और विज्ञान के विषयों पर 929 पदों का शासनादेश जारी कर दिया है, लेकिन प्रशिक्षित बेरोजगार संघ की अतिथि शिक्षकों की भर्ती को नजर अंदाज कर दिया गया। इससे प्रशिक्षित बेरोजगार संघ से जुड़े लोगों में सरकार के खिलाफ आक्रोश है। सरकार गणित, अंग्रेजी और विज्ञान विषयों के साथ सहायक अध्यापक और प्रवक्ता के अन्य समस्त विषयों के रिक्त पदों की प्रतीक्षा सूची से भरने का शासनादेश भी जारी करें। प्रशिक्षित बेरोजगार संघ के प्रदेश प्रवक्ता ने बताया कि संघ ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया है कि दिसंबर के अंतिम सप्ताह तक 2018 से लंबित प्रतीक्षा सूची को जारी नहीं किया तो सड़कों पर उतरकर उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। प्रशिक्षित बेरोजगार संघ के गुस्से का खामियाजा सरकार को आगामी चुनाव में भुगतना पड़ेगा।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!