आशाओं ने 21 हजार रुपया वेतन की मांग पर किया कार्य बहिष्कार

पिथौरागढ़। आशा कार्यकत्री संगठन ने केंद्रीय ट्रेड यूनियन और फेडरेशन के संयुक्त आह्वान पर मानदेय आदि 12 सूत्रीय मांगों पर एक दिवसीय कार्य बहिष्कार किया। इस दौरान उन्होंने एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा। संगठन की जिलाध्यक्ष सरस्वती पुनेठा के नेतृत्व में गुरुवार को आशा कार्यकत्रियों ने मांगों को लेकर नारेबाजी की। उन्होंने एसडीएम आरसी गौतम को ज्ञापन देकर कहा कि आशाओं को मातृ-शिशु मृत्यु दर को कम करने के लिए नियुक्त किया गया था। लेकिन उसके बाद से ही आशाओं पर विभिन्न सर्वे और काम का बोझ लगातार बढ़ाया गया है। उन्होंने आशाओं को सरकारी कर्मी का दर्जा देने और 21 हजार रुपया मासिक वेतन तय करने, जब तक मासिक वेतन और कर्मचारी का दर्जा नहीं मिलता तब तक आशाओं को भी अन्य स्कीम वर्कर्स की तरह मासिक मानदेय तय करने, पेंशन का प्रावधान,बकाया सहित समय से भुगतान आदि मांगें उठाई। इस मौके पर जिला सचिव पदमा प्रथौली, रेखा पुजारी, हेमा जोशी, रीना सिंह, मंजू माहरा, चम्पा राय, पार्वती पांडेय, ममता देवी, हेमा कलौनी, ममता जोशी, लक्ष्मी गहतोड़ी, प्रियंका देवी, माहेश्वरी देवी आदि मौजूद रहीं।


शेयर करें