यात्रा रूट पर खाद्य पदार्थों के 25 नमूने अधोमानक पाये गये

नई टिहरी। चारधाम यात्रा के मद्देनजर यात्रारूट पर आगराखाल, फकोट, खाड़ी, सेलूपानी, आमसेरा व चंबा में खाद्य संरक्षा व औषधि प्रशासन विभाग की मुख्यालय व जिले की संयुक्त टीम ने मोबाइल लैब की मदद से 100 खाद्य पदार्थों के नमूने मौके पर लेकर मौके पर ही नमूने के परिणाम भी जारी किये। 100 खाद्य पदार्थों में 25 खाद्य पदार्थों की रिपोर्ट अधोमानक आई। जिसे लेकर खाद्य कारोबारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गये। इस दौरान संयुक्त टीम ने खाद्य सुरक्षा को लेकर खाद्य कारोबारियों को प्रशिक्षण देकर अहम जानकारियां भी दी।
खाद्य संरक्षा विभाग के उपायुक्त मुख्यालय जीसी कंडवाल और जिला अभिहित अधिकारी एमएन जोशी ने बताया कि चारधाम यात्रा के मद्देनजर स्वास्थ्य मंत्री डा धन सिंह रावत और खाद्य संरक्षा विभाग के आयुक्त डा आर राजेश के निर्देश पर निरंतर निरीक्षण अभियान चलाये जा रहे हैं। इसी क्रम में मोबाइल लैब की मदद से भी मौके पर खाद्य पदार्थों की जांच का अभियान भी शुरू किया गया है। यात्रा रूट पर गुरुवार को 100 खाद्य पदार्थों में दूध व दूध से बने पदार्थ, मिठाई, मसाले व दाल के सैंपल लिए गये। जिनमें से दूध के तीन, मिठाई के 6, मसालों के 12 व दाल के चार नमूने अधोमानक पाये गये। जबकि अन्य मानकों के अनुरूप पाये गये। इस दौरान यात्रा रूट के खाद्य कारोबारियों के साथ कार्यशाल कर उन्हें प्रशिक्षण भी दिया। जिसमें खाद्य कारोबारियों को बताया गया कि मेहमान के रूप में आने वाले यात्रियों को ताजा व स्वच्छ खाना परोसें।
खाद्य पदार्थों की खामियों से अवगत कराते हुए भविष्य में लापरवाही पर वैधानिक कार्यवाही चेतावनी भी दी। इसके साथ ही खाद्य लाईसेंस, पंजीकरण, फूड सेप्टी डिस्प्ले बोर्ड, रेट लिस्ट, धुम्रपान निषेध सम्बंधी चेतावनी को लेकर सचेत करते हुए आवश्यक नियमों की जानकारी दी गई। मिठाईयों के निर्माण में अनुमन्य खाद्य रंगों के संयमित उपयोग, मिठाईयों की निर्माण व उपभोग तिथि को प्रदर्शित करने, खाद्य तेल का तीन बार से अधिक प्रयोग न करने व खाद्य सुरक्षा नियमों को लेकर जानकारियां दी गई। बताया कि मोबाईल खाद्य विश्लेषण वैन में 50 रूपये का शुल्क देकर किसी भी खाद्य पदार्थ की जांच करवा सकते हैं। मिलावटी सामग्री बेचे जाने पर इसकी सूचना टोलफ्री नंबर 18001804246 पर दे सकते हैं। इस अभियान के दौरान 80 खाद्य प्रतिष्ठानों का निरीक्षण करते हुए उपायुक्त मुख्यालय जीसी कंडवाल, उपायुक्त खाद्य विश्लेषणशाला आरएस कठैत, जिला अभिहित अधिकारी एमएन जोशी, वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा शारदा शर्मा, कनिष्क विश्लेषक मोहित कुमार, एफडीए विजिलेंस संजय नेगी आदि मौजूद रहे।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!