उर्स में मस्त मलंगों ने अपने हुनर का किया प्रदर्शन

रुड़की। दरगाह साबिर के 754 वें सालाना उर्स में देश की अलग-अलग दरगाहों से मस्त मलंग पहुंच चुके हैं। उन्होंने उर्स की छोटी रोशनी के मौके पर शनिवार को दरगाह के मुख्य गेट पर अपने करतब और हुनर का प्रदर्शन किया। कलियर मेले में मस्त मलंग भी खासे आकर्षण का केन्द्र रहते हैं। देशभर में सैकडों दरगाहें हैं, जहां मस्त मलंगों की धूनी जमी रहती है। सभी दरगाहों पर रहने वाले मस्त मलंग कलियर उर्स में शरीफ होने आते हैं और लगभग एक माह तक यहां निवास करते हैं। अपने प्रवास के दौरान विभिन्न मस्त मलंग अपने-अपने करतबों से जायरीनों को आकर्षित करते हैं। सूफी परम्परा में इन मस्त मलंगों को वही रुतबा हासिल है जो देश के सबसे बड़े मेले कुंभ में नागा साधुओं को होता है।


शेयर करें