लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाना, भाजपा का केवल असल मुद्दों से भटकाने वाला चुनावी स्टंट: शिल्पी अरोड़ा

देहरादून। कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी शिल्पी अरोड़ा ने देश में लड़कियों की शादी की उम्र को 18 से 21 करने पर कहा है कि भाजपा केवल और केवल इस तरह के मुद्दों को इस वक्त सामने कर रही है, जो कि लोगों की भावनाओं से जुड़े हुए हैं। शिल्पी अरोड़ा ने आरोप लगाया है कि बीजेपी इस वक्त महंगाई, बेरोजगारी पर कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं है। यही वजह है कि इस तरह के बेबुनियाद विषयों पर भाजपा निर्णय ले रही है। शिल्पी अरोड़ा ने भाजपा से सवाल किया है कि आखिर शादी की इस उम्र से कहां पर क्या कुछ दुष्प्रभाव पड़ा था। क्या इसका कोई आंकड़ा भाजपा के पास मौजूद है ? कितनी लड़कियों की जबरन शादी करवाई गई ? क्या इस बात का कोई आंकड़ा भाजपा के पास है? लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने पर कांग्रेस खफा। शिल्पी अरोड़ा ने कहा कि जब देश के संविधान में 18 वर्ष की आयु में व्यक्ति मतदान कर देश का भविष्य तय कर सकता है, तो वह अपना जीवनसाथी चुन कर भी अपने भविष्य चयन कर सकता है। शिल्पी अरोड़ा ने कहा कि इस मुद्दे में कोई दम नहीं है और यह केवल और केवल एक चुनावी स्टंट है। चुनाव जीतने के लिए भाजपा को इस वक्त कुछ असल मुद्दों पर भी बात कर लेनी चाहिए।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!