रात्रि प्रवास हेतु रखटाड़ पहुंची देव छड़ी

विकासनगर। कनबुआ से शिलगुर बिजट महाराज की देव छड़ी और देव चिन्ह ने सोमवार को एक रात के प्रवास के लिए खत बहलाड़ के रखटाड़ के लिए प्रस्थान किया। प्रवास यात्रा के दौरान जगह-जगह श्रद्धालुओं ने पुष्प वर्षा कर देवता से सुख समृद्धि की मन्नतें मांगीं। रखटाड़ के धणाज परिवार के राजेंद्र सिंह चौहान ने मनोकामना पूरी होने पर देवता को एक रात्रि के प्रवास के लिए अपने घर लाने की मन्नत रखी थी। कई वर्षों बाद मन्नतें पूरी होने पर वो खुद देवता को लेने कनबुआ पहुंचे। जहां से देवता को अपने साथ चलने की विनती की। सुबह ब्रह्म मुहूर्त में पुजारी ने देव छड़ी और देव चिन्हों को मंदिर के गर्भ गृह से बाहर निकाल कर दर्शनों के लिए रखा। इस दौरान सैकड़ों ग्रामीणों ने देव दर्शन कर खुशहाली की मन्नतें मांगी। दोपहर एक बजे देव छड़ी ने पुजारी, देवमाली और ग्रामीणों के साथ रखटाड़ के लिए प्रस्थान किया। कनबुआ से साहिया होते हुए रखटाड़ तक श्रद्धालुओं ने देव दर्शन किए। रखटाड़ पहुंचने पर परंपरागत तौर पर देवता का स्वागत कर विधि विधान से घर में प्रवेश कराया गया। एक रात्रि के प्रवास के बाद मंगलवार सुबह देव छड़ी मूल मंदिर के लिए प्रस्थान करेगी। इस दौरान पुजारी खुशीराम शर्मा, भंडारी संतन सिंह, वजीर शांति सिंह, राजेश पंवार, आशीष पंवार, प्रीतम पंवार आदि मौजूद रहे।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!