मवाणा गांव के ग्रामीणों का धरना प्रदर्शन रहा जारी

रुद्रप्रयाग। ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन के निर्माण से नगरासू क्षेत्र के मवाणा गांव में मकानों पर पड़ी दरारों के समाधान एवं सुरक्षा के साथ ही प्रभावितों को नौकरी देने की मांग को लेकर ग्रामीणों का आंदोलन जारी है। आक्रोशित लोगों ने कहा कि यदि निर्माणदायी कंपनी द्वारा शीघ्र ग्रामीणों की समस्याओं पर कार्रवाई नहीं की गई तो आंदोलन को उग्र किया जाएगा। मवाणा गांव के ग्रामीणों द्वारा बीते 15 दिनों से नगरासू पेट्रोल पंप के समीप धरना प्रदर्शन जारी है। मेघा कंपनी के खिलाफ ग्रामीणों ने मनमानी का आरोप लगाया है। धरना दे रहे ग्रामीणों ने कहा कि ब्लास्टिंग और अन्य विस्फोटकों से मवाणा गांव में अधिकांश भवनों पर दरारें पड़ी हैं। जबकि कई लोग टिन शेडो में शरण लिए हैं। विस्थापन, मुआवजा तो दूर यहां कंपनी के अधिकारी देखने तक नहीं आ रहे हैं। कहा कि बीते लम्बे समय से प्रभावित युवा योग्यतानुसार कंपनी में रोजगार की मांग कर रही है किंतु इस पर भी कंपनी कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। कंपनी के निर्माण से मवाणा गांव को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कई बार कंपनी के अधिकारियों से वार्ता करने के बाद भी लोगों की प्रमुख समस्याओं पर किसी तरह का सकारात्मक समाधान नहीं हो रहा है। ग्रामीणों ने कहा कि यदि कार्यदायी कंपनी का इसी तरह का रवैया रहा तो ग्रामीण अपने आंदोलन को और भी उग्र करेंगे। इस मौके पर धरना देने वालों में ग्राम प्रधान वीरेंद्र सिंह राणा, दिनेश राणा, सूरज राणा, अभिषेक सिंह, दिनेश राणा, अंकित सिंह, महेंद्र सिंह, रोहित राणा, मनीष कठैत, योगेंद्र सिंह, महेशा लाल, चेतन राणा, पवन रावत, हिमांशु सिंह सहित कई ग्रामीण मौजूद थे।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!