महात्मा गांधी के पोते अरुण मणिलाल का कोल्हापुर में निधन, 89 वर्ष की आयु में ली अंतिम सांस

नई दिल्ली (आरएनएस)। महात्मा गांधी के पौत्र अरुण मणिलाल गांधी का मंगलवार को निधन हो गया। अरुण गांधी के पुत्र तुषार गांधी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। बताया गया है कि 89 वर्षीय अरुण गांधी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। तुषार गांधी ने बताया है कि उनके पिता का अंत्येष्टि संस्कार कोल्हापुर में आज ही किया जाएगा।
महात्मा गांधी के पौत्र अरुण गांधी मणिलाल गांधी के पुत्र हैं। अरुण गांधी का जन्म 14 अप्रैल 1934 को साउथ अफ्रीका के डरबन में हुआ था। महात्मा गांधी के दूसरे बेटे मणिलाल गांधी डरबन के समाचार पत्र इंडियन ओपिनियन के एडिटर रहे, जबकि उनकी (मणिलाल गांधी) पत्नी इसी समाचार पत्र में पब्लिशर थीं। अरुण गांधी ने पिता से सीख लेकर बाद में अपने दादा के आदर्शों पर चलने का फैसला लिया और सामाजिक-राजनीतिक मुद्दों पर बतौर कार्यकर्ता काम करना शुरू किया।
अरुण गांधी के नाम कुछ उपलब्धियां भी हैं। उन्होंने अपने जीवन में कुछ किताबें भी लिखी हैं। जिनमें ‘द गिफ्ट ऑफ एंगर: एंड अदर लेसन्स फ्रॉम माई ग्रैंडफादर महात्मा गांधी’ प्रमुख है। अरुण गांधी अपने परिवार के साथ वर्ष 1987 में अमेरिका में रहने चले गए थे। यहां उन्होंने टेनेसी राज्य के मेम्फिस में काफी समय गुजारा। यहीं की क्रिश्चियन ब्रदर्स यूनिवर्सिटी में अरुण गांधी ने अहिंसा से जुड़े एक संस्थान की भी स्थापना की।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!