जमरानी बांध परियोजना के सर्वे में 88 परिवार हो गए बाहर

हल्द्वानी। बहुचर्चित जमरानी बांध परियोजना में डूब क्षेत्र के करीब 88 परिवार बाहर हो गए। सर्वे के दौरान यह परिवार अपने दस्तावेज टीम के सामने प्रस्तुत नहीं कर पाए। इसीलिए इन्हें पुनर्वास एवं विस्थापन की सूची से बाहर कर दिया गया। परियोजना के डूब क्षेत्र में आने वाले 1235 परिवारों के नाम का प्रकाशन कर दिया गया है। इन्हें एक महीने तक आपत्ति और दावे दर्ज कराने का समय दिया गया है। हल्द्वानी के पास गौला नदी पर प्रस्तावित जमरानी बांध परियोजना के डूब क्षेत्र में आने वाले ग्रामीणों के पुनर्वास और विस्थापन के लिए मुआवजा और स्थान तय हो चुका है। वहीं डूब क्षेत्र के ग्रामीणों के नाम सर्वे के बाद फाइनल कर दिए गए। दरअसल प्रथम सर्वे में डूब क्षेत्र में आने वाले परिवारों की संख्या 1323 थी, लेकिन लंबा समय होने के कारण दोबारा से सर्वे किया गया। जिसमें 1235 नाम सामने आए हैं। इन्हें तीन श्रेणियों में बांटकर मुआवजा दिया जाएगा। ऐसे में करीब 88 लोग बाहर हो गए थे। सर्वे के दौरान यह लोग डूब क्षेत्र में अपने मकान और जमीन का कोई दस्तावेज नहीं दे पाए। अब सूची में प्रकाशित नामों पर ही दावे और आपत्तियां सुनी जाएंगी।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!