हिमाचल एग्जिट पोल में कांटे की टक्कर, जानें भाजपा-कांग्रेस को कितनी-कितनी सीटें

शिमला। हिमाचल प्रदेश में 12 नंवबर को विधानसभा की सभी 68 सीटों के लिए मतदान हुआ और अब 8 दिसंबर को नतीजे आएंगे। इससे पहले सोमवार शाम को एग्जिट पोल जारी हुए। अभी तक जो सर्वे जारी किए गए हैं उनके अनुसार हिमाचल में मुकाबला सबसे ज्यादा रोचक होने वाला है। सर्वे इस ओर इशारा कर रहे हैं कि हिमाचल में भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर होने वाली है। प्रदेश में रिवाज बदलेगा या राज इसकी धुंधली तस्वीर एग्जिट पोल में कुछ हद तक साफ होती दिख रही है।

जानें किसके सर्वे में कौन जीत रहा

न्यूज 24 टुडेज चाणक्या
भाजपा-33
कांग्रेस-33
अन्य- 2

टीवी9 ऑन द स्पॉट सर्वे
भाजपा – 33
कांग्रेस – 31
आप – 0
अन्य – 4

आजतक का सर्वे
भाजपा – 24-34
कांग्रेस – 30-40
आम आदमी पार्टी – 0
अन्य – 0

इंडिया टीवी का सर्वे
भाजपा – 35-40
कांग्रेस – 26-31
आप – 0-0
अन्य – 0-3

न्यूज 18 का सर्वे
भाजपा- 36
कांग्रेस- 30
आप – 0
अन्य – 2

जी न्यूज बार्क का सर्वे
भाजपा – 35-40
कांग्रेस – 20-25
आप – 0-3
अन्य – 1-5

इंडिया न्यूज जन की बात भाजपा और कांग्रेस के बीच करीबी मुकाबला
इंडिया न्यूज जन की बात के सर्वे के अनुसार 32-40 सीटें भारतीय जनता पार्टी को मिलने का अनुमान है। कांग्रेस को 27-34, आम आदमी पार्टी को 0 और अन्य को 1-2 सीटें मिलने का अनुमान बताया जा रहा है।

आर भारत के एग्जिट पोल
भाजपा को 34-39
कांग्रेस को 28-33
आप को 0-1

टाइम्स नाउ
टाइम्स नाउ के अनुसार, भाजपा को 38, कांग्रेस को 28, आम आदमी पार्टी को 0 और अन्य को 2 सीटों को अनुमान है।

रिपब्लिक पी-मारक्यू
रिपब्लिक पी-मारक्यू के अनुसार हिमाचल में एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने जा रही है। सर्वे के अनुसार भाजपा को 34-39 व कांग्रेस को 28-33, आप 0-1 व अन्य को 1-4 सीटें मिलने का अनुमान है।

पूर्ण बहुमत प्राप्त करेगी कांग्रेस: प्रतिभा
हिमाचल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह ने कहा कि एग्जिट पोल में दर्शाए गए आंकड़ों से अधिक सीटें कांग्रेस को प्राप्त होंगी। 8 दिसंबर को घोषित होने वाले नतीजों में कांग्रेस पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी। भाजपा ने प्रदेश के हर वर्ग महिलाओं, युवाओं, किसानों-बागवानों, बुजुर्गों और कर्मचारियों की अनदेखी की है। जनता में कांग्रेस को लेकर भारी उत्साह है। कांग्रेस सत्ता में आते ही अपना हर वादा पूरा करेगी।

गुजरात चुनाव एकतरफा: सीएम जयराम
एग्जिट पोल पर हिमाचल प्रदेश सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि गुजरात एक तरफा चुनाव है। वहां दूसरी पार्टियां काफी पीछे हैं। कांग्रेस बहुत नीचे आएगी और आम आदमी पार्टी अपने कुछ वोट लेगी, मगर उसके बाद भी दोनों पार्टियां बहुत पीछे रह जाएंगी। वहां भाजपा की ऐतिहासिक जीत होने वाली है।

इस बार टूटे हैं मतदान के रिकॉर्ड
बता दें इस बार प्रदेश के मतदाताओं ने अब तक हुए विधानसभा चुनाव के सभी मतदान के रिकॉर्ड तोड़ दिए। 12 नंवबर को हुए मतदान में रिकॉर्ड 75.6 फीसदी वोट पड़े। इनमें एक फीसदी सर्विस वोटर भी शामिल हैं। हालांकि अभी सर्विस वोटर और जुड़ने हैं। ऐसे में मतदान का आंकड़ा 76 फीसदी तक पहुंच सकता है। इससे पहले पिछले 2017 के विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा 75.57 फीसदी वोट पड़े थे। इस बार प्रदेश में सबसे अधिक सोलन के दून विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 85.25 प्रतिशत और शिमला शहर में सबसे कम 62.53 प्रतिशत मतदान हुआ। सभी डाक मतपत्रों के प्राप्त होने तक यह एक फीसदी और बढ़ सकता है। कांग्रेस पार्टी प्रदेश में पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने के दावे कर रही हैं, वहीं भाजपा भी रिवाज बदलने या सरकार रिपीट होने के दावे कर रही हैं। हालांकि 8 दिसंबर को फैसला होगा कि रिवाज बदलेगा या राज।

412 प्रत्याशियों का राजनीतिक भविष्य 8 दिसंबर को होगा तय
68 विधानसभा क्षेत्रों के 412 प्रत्याशियों का भविष्य ईवीएम में कैद में कैद है। अब 8 दिसंबर को इनके राजनीतिक भविष्य का फैसला होगा। चुनावी दंगल में भाजपा, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी (आप), माकपा, बसपा और निर्दलियों समेत 412 प्रत्याशियों में यह रोचक जंग हुई है। इनमें 388 पुरुष और 24 महिला प्रत्याशी हैं। प्रदेश में कुल 55,92,828 मतदाताओं में से 28,54,945 पुरुष, 27,37,845 महिलाएं और 38 थर्ड जेंडर के नाम मतदाता सूचियों में शामिल रहे हैं। पहली बार 80 से अधिक उम्र और दिव्यांग वोटरों को अपने घरों से मत डालने की सुविधा दी गई। इसके बावजूद कई बुजुर्गों और दिव्यांगों ने मतदान केंद्रों में पहुंचकर वोट डाला। मतदान के लिए 142 बूथ महिला और 37 दिव्यांग कर्मियों के हवाले रहे। प्रदेश भर में 136 आदर्श मतदान केंद्र भी बनाए गए थे। 378 अति संवेदनशील और 903 संवेदनशील मतदान केंद्र रहे।

मतगणना को लेकर 1950 हेल्पनंबर जारी होगा
मुख्य निर्वाचन अधिकारी मनीष गर्ग ने कहा कि 8 दिसंबर को होने वाली मतगणना के दिन कार्यालय में मतगणना संबंधी सूचना एवं शिकायतें प्राप्त करने के लिए हेल्पलाइन नंबर 1950 मतगणना आरंभ होने से 72 घंटे पहले क्रियाशील होगा। उन्होंने कहा कि चुनाव विभाग की ओर से सूचना के सुचारु संप्रेषण को सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक मतगणना केंद्र पर सूचना केंद्र स्थापित किया जाएगा।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!