गंगोत्री हाईवे के चौड़ीकरण को लेकर डीएम को ज्ञापन

उत्तरकाशी। ऑलवेदर चारधाम सड़क संघर्ष समिति उत्तरकाशी से जुड़े पदाधिकारियों ने गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग के नियमानुसार चौड़ीकरण की मांग को लेकर डीएम व सदस्य सचिव भागीरथी ईको सेंसिटिव जोन को ज्ञापन सौंपा है। समिति के पदाधिकारियों ने डीएम को सौंपे ज्ञापन के माध्यम से बताया कि हीना-मनेरी से बड़ेथी नेताला बायपास तक गंगोत्री हाईवे चौड़ीकरण को लेकर बीआरओ की ओर से सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का खुलेआम उल्लंघन का आरोप लगाया। कहा कि बिना किसी डिटेल्ड ईआइए के नेताला बायपास का सड़क सर्वेक्षण, वन विभाग द्वारा वृक्षों का नपान छपान की कार्यवाही शुरू की गई है। जो कि बिना किसी अध्ययन के जारी है। जबकि इसके अंतर्गत जनवाई की शर्तें अभिन्न कर दी गई है। इसके साथ ही हाई पावर कमिटी की सिफारिशों को दरकिनार कर नेताला बायपास से वन भूमि, सिविल भूमि के हस्तांतरण के लिए जंगल की नपाई चल रही है। जिसे कमिटी रद्द कर चुकी है। इस तरह जंगल क्षेत्र में मनमानी घुसपैठ और पारिस्थितिकी तंत्र को अनावश्यक क्षति पहुंचाने की अवैध कार्यवाहीजारी है। समिति के अध्यक्ष शैलेंद्र मटूड़ा ने डीएम से ईको जोन में हो रही इन गतिविधियों को रोकने की मांग की है। उन्होंने ओवर साइट कमिटी के साथ स्वयं स्थलीय निरीक्षण कर कार्यदायी संस्थाओं की मनमानी पर रोक लगाने का आग्रह किया। कहा कि गंगोत्री हाईवे बड़ेथी, ज्ञानसू, बाजार, उजेली, तेखला, गंगोरी, गणेशपुर, हीना, नेताला से डबल लेन बने।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!