गंगोलीहाट और बेरीनाग में छड़ी यात्रा का स्वागत

पिथौरागढ़। प्रसिद्ध धार्मिक छड़ी यात्रा का गंगोलीहाट व बेरीनाग में भव्य स्वागत किया गया। बेरीनाग में विधायक फकीर राम टम्टा ने यात्रा का स्वागत किया। इस दौरान श्री 1008 हिमालय पीठाधी स्वामी वीरेन्द्रानंद महाराज ने धार्मिक यात्रा के महत्व की जानकारी दी। शनिवार को पंच दशनाम जूना अखाड़ा के अंतर्राष्ट्रीय शरावती प्रेम गिरी महाराज एवं श्री 1008 हिमालय पीठाधी स्वामी वीरेन्द्रानंद महाराज के नेतृत्व में लगभग 80 साधु-संतों व अनुयायियों के साथ पवित्र छड़ी यात्रा गंगोलीहाट पहुंची। महाकाली मंदिर में मां के दर्शन उपरांत साधु संत पाताल भुवनेश्वर के लिए हुए रवाना। 9 अक्टूबर से पंच दशनाम जूना अखाड़ा हरिद्वार से विभिन्न तीर्थ स्थलों के भ्रमण पर उत्तराखंड की सुख समृद्धि के लिए यह यात्रा आरंभ की गई है। बेरीनाग पहुंचने पर छड़ी यात्रा का जोरदार स्वागत किया गया। विधायक फकीर राम टम्टा ने पवित्र छड़ी की पूजा अर्चना कर आशीर्वाद प्राप्त किया। तथा श्रद्धालुओं ने पवित्र छड़ी तथा साधु संतों का स्वागत किया। इस मौके पर महामंडलेश्वर वीरेंद्रानंद गिरी ने पवित्र छड़ी के पौराणिक महत्व, उद्देश्य व वर्तमान परिस्थितियों में इसकी उपयोगिता के संदर्भ में बताया। कहा आदि जगतगुरु शंकराचार्य ने लगभग ढाई हजार वर्ष पूर्व पवित्र छड़ी को प्रारंभ किया गया था । कहा उन्होंने इसके माध्यम से विधर्मियों को परास्त करते हुए पूरे आर्यावृत में सनातन धर्म की स्थापना की। महामंडेश्वर प्रेमगिरि महाराज ने कहा कि यात्रा का मुख्य कारण लोगों को धार्मिक आस्था के लिए जागरूक करना है।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!