द्वारीखाल में आयोजित हुई वनाग्नि सुरक्षा गोष्ठी

पौड़ी। सोमवार को ब्लाक मुख्यालय द्वारीखाल में वनाग्नि सुरक्षा गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें जंगलों को आग से बचाने के लिए सभी के सहयोग पर जोर दिया गया। वनाधिकारियों ने कहा कि महकमे ने एक ट्रोल फ्री नंबर भी जारी किया है, यदि कोई जंगल में आग लगाते दिखे तो इस पर सूचना दी जा सकती है, ऐसे लोगों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई होगी। द्वारीखाल में इस गोष्ठी का शुभारंभ ब्लाक प्रमुख महेंद्र राणा ने किया। ब्लॉक प्रमुख ने कहा कि हमें जैव विविधता पर ध्यान केंद्रित करते हुए जल, जमीन,जंगल को बचाना है। जंगलों की आग पर्यावरण को दूषित कर रही है और वन्य जीवों को भी नुकसान पहुंचाती है। हर साल बड़ी तादाद में जंगल आग की चपेट में आ रहे है। इससे जैव विविधता का संकट खड़ा हो रहा है। ब्लाक प्रमुख ने कहा कि जंगलों की आग को बुझाने के लिए सभी का सहयोग जरूरी है। चिपको आन्दोलन की नेता गौरा देवी ने पेड़ से चिपककर पेड़ों कटने से बचाया था, उसी प्रकार हमें भी जंगलों में आग की घटनाओं को रोकने में सहयोग करना होगा, तभी जंगल बचे रहेंगे। गोष्ठी में वन क्षेत्राधिकारी चैलूसैंण इंद्रमोहन कोठरी ने कहा कि जंगलों को आग से बचाने के लिए विभाग का सहयोग सभी को करना होगा। आपसी सहभागिता से जंगल आसानी से बच सकते है। कहा कि वनों में आग लगाते हुए कोई व्यक्ति दिखे तो विभाग के टोल फ्री नंम्बर पर सूचना दे, ताकि ऐसे लोगों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जा सके । गोष्ठी में मटियाली रेंजर वीपी जोशी, हंश फाउंडेशन से सतीश बहुगुणा, बीडीओ जयकृत सिंह बिष्ट, कनिष्ठ उप्रमुख रविन्द्र सिंह रावत, बीडीसी सदस्य भारत सिंह रावत, प्रधान संगठन अध्यक्ष अर्जुन सिंह नेगी सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अफसर और कार्मिक भी मौजूद रहे। गोष्ठी का संचालन वन दरोगा रश्मि खत्री ने किया।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!