सामने बैठे थे बिलावल भुट्टो, जयशंकर ने आतंकवाद पर पाकिस्तान को खूब सुनाया

नई दिल्ली। भारत के तनावपूर्ण रिश्तों के बीच विदेश मंत्रियों की एससीओ परिषद की बैठक के लिए पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो भारत दौरे पर हैं। सत्र को संबोधित करते हुए बिलावल की मौजूदगी में एस जयशंकर ने खूब सुनाया। आतंकवाद पर कड़ा रुख अख्तियार करते हुए उन्होंने आतंकी गतिविधियों के लिए फंडिंग को रोकने की आवश्यकता पर बल दिया।
विदेश मंत्रियों की एससीओ परिषद के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए एस जयशंकर ने कहा, ”जब दुनिया कोरोना का सामना करने में लगी हुई थी, उस दौरान भी कुछ देश आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे थे। इस खतरे से नजरें हटाना हमारी सुरक्षा के लिए हानिकारक साबित होगा। हमारा दृढ़ विश्वास है कि आतंकवाद का कोई औचित्य नहीं हो सकता है। इसे सीमा पार आतंकवाद सहित इसके सभी रूपों में रोका जाना चाहिए।” जयशंकर का इशारा एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ से जारी आतंकवादी घटनाओं की तरफ था।
दूर से ही जोड़े हाथ, नहीं हुई बात; जब सामने आए बिलावल भुट्टो और जयशंकर
उन्होंने कहा, ”आतंकवादी गतिविधियों के लिए तैयार चैनलों को बिना किसी देरी के अवरुद्ध किया जाना चाहिए। सदस्य देशों को यह याद दिलाने की आवश्यकता नहीं है कि आतंकवाद का मुकाबला करना एससीओ के मूल जनादेशों में से एक है।”
विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा, ”मैं एससीओ की भारत की पहली अध्यक्षता के तहत आपकी मेजबानी करते हुए हर्षित महसूस कर रहा हूं। एससीओ की हमारी अध्यक्षता के तहत, हमने 100 से अधिक बैठक और कार्यक्रम सफलतापूर्वक संपन्न किये जिनमें 15 मंत्री स्तरीय बैठकें शामिल हैं।”


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!