भुगतान न होने पर लीसा ठेकेदारों का प्रदर्शन

बागेश्वर। लीसा गढ़ान, ढुलान का भुगतान नहीं होने पर लीसा ठेकेदारों ने कड़ी आपत्ति जताई है। नाराज ठेकेदारों ने जिला मुख्यालय में प्रदर्शन किया। वन विभाग पर उपेक्षा का आरोप लगाया। उनके भुगतान का बजट विभाग अन्य कार्यों पर खर्च कर रहा है। भुगतान नहीं होने से उनके सामने आर्थिक संकट गहरा गया है। जल्द समस्या का समाधान नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। लीसा ठेकेदार सोमवार को कलक्ट्रेट में पहुंचे। यहां अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी की और प्रदर्शन किया। यहां हुई सभा में वक्ताओं ने कहा कि उन्होंने पिछले साल जिले में लीसे का गढ़ान तथा ढुलान कार्य किया, लेकिन अभी तक उन्हें इसका भुगतान नहीं हो पाया है। वन विभाग उनकी उपेक्षा कर रहा है। बजट आने पर उन्हें नाममात्र का भुगतान दिया जाता है, जबकि उनके बजट को अन्य कार्यों में खपाया जा रहा है। विभाग ने उन्हें लीसा मोटर रोड डिपो में जमा करने के आदेश गत वर्ष अक्टूबर में दे दिया था। आदेश के बाद सभी ठेकेदारों ने लीसा डिपो में जमा कर दिया है। भुगतान के अभाव में अब उनके सामने श्रमिकों, खच्चारों आदि का भुगतान करने की चुनौती बनी हुई है। इसके अलावा आने वाले दिनों में नया लीसा का कार्य भी शुरू किया जाना है। भुगतान नहीं होने से ठेकेदार परेशान हैं। उनके सामने कारोबार के साथ घर चलाने की समस्या खड़ी हो गई है। इसके बाद उन्होंने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। जल्द भुगतान नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दभी दी है। इस मौके पर लीलाधर पांडे, टीका राम, विशन दत्त, दयाल चौबे,जगदीश सिंह रावत, मोहन रावत आदि मौजूद रहे।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!