भाबर क्षेत्र के लोगों ने किया ट्रेंचिंग ग्राउंड का विरोध

कोटद्वार। भाबर क्षेत्र के अंतर्गत हल्दूखाता में प्रस्तावित ट्रेंचिंग ग्राउंड का क्षेत्रीय लोगों ने विरोध करना आरंभ कर दिया है। कहा कि भाबर क्षेत्र राजा भरत की जन्म स्थली कण्वाश्रम से सटा हुआ है, ऐसे में यहां पर ट्रेंचिंग ग्राउंड किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। इस संबध में क्षेत्रीय निवासियों ने उपजिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित किया। ज्ञापन में कहा गया है कि नगर निगम गाड़ीघाट में खोह नदी के तट पर बने ट्रेंचिंग ग्राउंड को हल्दूखाता शिफ्ट करने की तैयारी में है। कहा कि हल्दूखाता से कुछ दूरी पर मालिनी नदी और राजा भरत की जन्म स्थली कण्वाश्रम अवस्थित है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्ष 2018 में कण्वाश्रम को आइकोनिक स्थल घोषित कर चुके हैं। कण्वाश्रम के विकास के लिए प्रदेश सरकार योजनाएं भी तैयार कर रही है, ऐसे में कण्वाश्रम के समीप ट्रेंचिंग ग्राउंड को उचित नहीं ठहराया जा सकता। चेतावनी दी कि हल्दूखाता में ट्रेंचिंग ग्राउंड बनाया गया तो क्षेत्रीय जनता आंदोलन पर बाध्य होगी। ज्ञापन प्रेषित करने वालों में दिनेश लखेड़ा, प्रमोद रावत, गोविंद सिंह, सुरेद्र सिंह, विजय सिंह, मदन रावत, राजेंद्र कुमार, वीरेंद्र सिंह, नवीन कुमार और जगदीश प्रसाद सहित कई लोग शामिल रहे।


शेयर करें
error: Share this page as it is...!!!!