अपराधियों से निपटने में सक्षम है उत्तराखंड पुलिस : डीजीपी

हरिद्वार(आरएनएस)।  कार्यवाहक डीजीपी बनने के बाद पहली बार हरिद्वार पहुंचे अभिनव कुमार तेवर में दिखाई दिए। उन्होंने दो टूक कहा कि उत्तराखंड को सॉफ्ट टॉरगेट समझने वाले गैर राज्यों के अपराधियों से बखूबी निपटना पुलिस को आता है। जेल में रहकर आपराधिक साम्राज्य चला रहे अपराधियों को अपनी गतिविधियों पर लगाम लगानी होगी, वरना उनसे भी सख्ती से निपटा जाएगा। उन्होंने कहा कि अपराधियों के लिए उत्तराखंड पुलिस मित्र नहीं बल्कि काल पुलिस है। सोमवार को मेला नियंत्रण कक्ष सभागार में अधीनस्थों की बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में डीजीपी अभिनव कुमार ने कहा कि उत्तराखंड पुलिस की छवि पर्यावरण पुलिस की भी होगी। विशेषकर पर्वतीय क्षेत्रों में पुलिस को पर्यावरण मित्र के तौर पर भी स्थापित किया जाएगा। डीजीपी ने कहा कि कानून व्यवस्था को लेकर बिलकुल समझौता नहीं किया जाएगा। राज्य गठन के बाद प्रदेश में विकास तेजी से हुआ है, इसलिए यूपी समेत अन्य राज्यों के अपराधियों ने उत्तराखंड का रुख किया। डीजीपी ने कहा कि उत्तराखंड पुलिस आमजन के लिए मित्र पुलिस है, लेकिन अपराधियों के लिए काल पुलिस साबित होगी। अंकिता हत्याकांड का जिक्र करते हुए डीजीपी बोले कि उस घटना से आमजन में महिला अपराधों के प्रति नकारात्मक छवि बनी है, ऐसे में महिला अपराधों को लेकर संवेदनशील रवैया अपनाने के निर्देश दिए गए हैं। यही नहीं विभाग की महिला कर्मचारियों के प्रति भी बेहतर माहौल बनाने का प्रयास किया जाएगा। जोशीमठ और उत्तरकाशी सुरंग हादसे का हवाला देते हुए डीजीपी ने कहा कि पुलिस और एसडीआरएफ की टीमों ने अच्छा काम किया है। प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के लिए पुलिस को और ज्यादा दुरुस्त किया जाएगा। पर्यावरण प्रदूषण कम करने की दिशा में भी पुलिस सक्रिय रूप से काम करेगी, जिसके तहत थाने-चौकियों में सोलर पावर प्लांट और रेन वाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था की जाएगी। यातायात प्लान भी बनाया जा रहा है, जिसे जल्द लागू किया जाएगा।
बैठक में एसएसपी प्रमेंद्र डोबाल, एसपी क्राइम अजय गणपति, एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार सिंह, एसपी देहात स्वप्न किशोर सिंह, एएसपी लक्सर मनोज ठाकुर समेत जिले के सभी राजपत्रित अधिकारी और थाना-कोतवाली प्रभारी मौजूद रहे।


शेयर करें