अपहरण, दुराचार व पॉक्सो ऐक्ट का आरोपी गिरफ्तार, जेल भेजा

विकासनगर। चकराता तहसील क्षेत्र के अंतर्गत बीते वर्ष 12 नवंबर माह में लापता हुई युवती के पिता ने राजस्व पुलिस जाडी को तहरीर देकर बताया कि उसकी नाबालिग बेटी का अपहरण कर दिया है। जिस पर राजस्व पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज किया। 25 नवंबर को जिलाधिकारी देहरादून ने मुकदमे को राजस्व पुलिस से रेगुलर पुलिस को ट्रांसफर किया। जिसके बाद कालसी पुलिस ने शुक्रवार को आरोपी को गिरफ्तार कर युवती को बरामद कर दिया है। आरोपी के खिलाफ पुलिस ने अपहरण, दुराचार और पॉक्सो ऐक्ट में मुकदमा दर्ज कर आरोपी को शनिवार को कोर्ट में पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया है। चकराता तहसील के एक गांव के ग्रामीण ने बीते वर्ष 12 नवंबर को अपनी नाबालिग सत्रह वर्षीय बेटी को बहला फुसलाकर भगाने का आरोप लगाया था। तब राजस्व पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था। जिसे जिलाधिकारी देहरादून ने कालसी रेगुलर पुलिस को स्थानांतरित किया। मामले की जांच एसआई हेमा बिष्ट को सौंपी गयी। शुक्रवार दस मार्च को एसआई हेमा बिष्ट व उनकी टीम ने आरोपी दीवान उर्फ ध्यानू पुत्र को गिरफ्तार कर आरोपी के कब्जे से नाबालिग को बरामद किया। आरोपी के खिलाफ पुलिस ने विभिन्न आपराधिक धाराओं व पॉक्सो ऐक्ट में मुकदमा दर्ज कर कोर्ट में पेश किया। जहां से आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया है। एसआई हेमा बिष्ट ने बताया कि युवती का मेडिकल कराने के साथ ही मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान दर्ज कराये जा रहे हैं। बताया कि दर्ज बयानों के बाद अग्रिम कार्रवाई की जायेगी।


शेयर करें