अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज में स्वास्थ्य सम्बन्धित सुविधाएं नहीं हो रही दुरुस्त, 15 मार्च से बैठूंगा आमरण अनशन पर : बिट्टू कर्नाटक

अल्मोड़ा। उत्तराखण्ड कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं पूर्व दर्जामंत्री बिट्टू कर्नाटक ने आज जिलाधिकारी अल्मोड़ा के माध्यम से पुनः मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड को एक ज्ञापन प्रेषित कर उन्हें अवगत कराया कि आम जनता को बेहतर स्वास्थ्य सुविधायें उपलब्ध कराये जाने हेतु अल्मोडा में मेडिकल कालेज स्वीकृत किया गया था। किन्तु मेडिकल कालेज में आज तक व्यवस्थायें दुरूस्त नहीं की गयी हैं। फलस्वरूप जनता को उपचार हेतु मैदानी क्षेत्र के चिकित्सालयों में जाना पड़ता है जिस कारण कई बार गम्भीर रोगियों को समय पर उपचार न मिलने के कारण रास्ते में उनकी मृत्यु हो गयी है। उन्होने कहा कि बीती 10 फरवरी को उक्त विषयक ज्ञापन उनके द्वारा मुख्यमंत्री को प्रेषित किया गया था जिसके माध्यम से पूर्व में ही अवगत करा दिया गया था कि यदि 14 मार्च 2023 तक मेडिकल कालेज की अव्यवस्थाओं को ठीक नहीं किया तो उन्हें दिनांक 15.03.2023 से आमरण अनशन करने हेतु बाध्य होना पड़ेगा।
किन्तु मेडिकल कालेज अल्मोड़ा में आज की तर्रीख तक आपरेशन थियेटर, आईसीयू, एन.आई.सी.यू., एम.आर.आई. मशीन का संचालन, ईको जांच की सुविधा का न होना, आक्सीजन प्लांट का लाभ नहीं मिल रहा है, चिकित्सा के पर्याप्त उपकरण का न होना, विशेषज्ञ चिकित्सकों का अभाव आदि व्यवस्थाएं सुनिश्चित नहीं की गयी हैं। जिस कारण गम्भीर रूप से बीमार व्यक्तियों को हल्द्वानी अथवा हायर सैन्टर हेतु रेफर कर दिया जा रहा है।
श्री कर्नाटक ने कहा कि आम जनमानस के हित में उन्हें 15 मार्च 2023 से मेडिकल कालेज में प्राचार्य के कक्ष के सामने आमरण अनशन करने के लिए सरकार तथा विभाग द्वारा बाध्य किया गया है। इस आमरण अनशन की समस्त जिम्मेदारी सरकार एवं मेडिकल कालेज प्रशासन की होगी।


शेयर करें